Only4uptet.in
HomeComment Box Log InSing Up
UPTET 72825 CASE STATUS IN SUPREME COURT SHIKSHAMITRA CASE STATUS IN SUPREME COURT
UPTET - डी०एल०एड० प्रशिक्षण 2016 के लिए आदेश जारी
Advertisement
GO TO ROJGARRESULTS.COM
इस सरकारी स्कूल में लगती है एडमिशन की होड़
पंजाब में मोगा के एक सरकारी स्कूल ने निजी स्कूलों को पीछे छोड़ा, बास्केटबाल-बैडमिंटन कोर्ट, महंगा आरओ सिस्टम बदली तस्वीर विनय शौरी’ मोगा सरकारी स्कूल किसी भी स्तर के हों, उनमें दाखिले की होड़ दुर्लभ बात है। प्राथमिक शिक्षा में तो अपने आसपास ऐसे स्कूल ढूंढ़ना लगभग नामुमकिन है जो अपनी पढ़ाई और सुविधाओं के लिहाज से छात्रों को आकर्षित कर सकें, लेकिन माध्यमिक शिक्षा में भी ऐसे गिने-चुने स्कूल ही हैं जहां एडमिशन के लिए लंबी लाइनें लगती हों। पंजाब में मोगा के एक गांव खासा में सरकारी सीनियर सेंकेडरी स्कूल एक उदाहरण बनकर सामने आया है। यह स्कूल सुविधाओं और पढ़ाई के मामले में महंगी फीस वाले निजी स्कूलों से भी आगे है। बास्केटबॉल और बैडमिंटन कोर्ट, साइंस पार्क, सात लाख रुपये का आरओ सिस्टम, वातानुकूलित कंप्यूटर रूम, 50 फीट लंबी डाइनिंग टेबल, सांस्कृतिक प्रयोगशाला, लाइब्रेरी, गणित प्रयोगशाला सहित तमाम अत्याधुनिक सुविधाएं इस स्कूल को खास बनाती हैं। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि यह सारी व्यवस्था बिना सरकारी फंड के की गई है। आश्चर्य नहीं कि इस स्कूल में बच्चों को प्रवेश दिलवाने के लिए लोगों की लाइन लगी रहती है। लोग प्राइवेट स्कूलों से अपने बच्चों को निकालकर यहां प्रवेश दिलवाते हैं। यह चमत्कार हुआ है स्कूल प्रिंसिपल गुरदर्शन सिंह बराड़ की मेहनत से। उन्होंने साबित कर दिया है कि यदि लगन व ईमानदारी हो तो आज भी सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदली जा सकती है। वह बताते हैं कि 2009 में जब उनकी तैनाती हुई तो गंदगी व अव्यवस्था के कारण स्कूल की तरफ कोई देखता तक नहीं था। फिर उन्होंने सफाई शुरू की। बच्चों, स्कूल स्टॉफ का भी हौसला बढ़ा और वे भी सफाई करने लगे। अब यह जिले का आदर्श स्कूल बन गया है। फीस न के बराबर है और रिजल्ट सौ प्रतिशत। उन्होंने वेतन से भी स्कूल पर काफी पैसे खर्च किए हैं। कमरे के निर्माण में तो एक बार उन्होंने 50 हजार रुपये अपनी जेब से दिए। बढ़ती गई छात्रों की संख्या : इस स्कूल में निजी स्कूलों जैसी सुविधाएं मिलने लगीं तो बच्चों की संख्या तीन सौ से बढ़कर साढ़े चार सौ हो गई। अब स्थिति यह है कि स्कूल में प्रवेश देने से मना करना पड़ रहा है, क्योंकि सीटें तुरंत फुल हो जाती हैं। गुरदर्शन के बेहतरीन कार्य को देखते हुए सरकार ने अब उन्हें जिला शिक्षा अधिकारी बना दिया है। स्कूल की तस्वीर बदलने में स्टॉफ, गांववासियों के साथ-साथ कुछ एनआरआई और एक डेरे का सहयोग भी उल्लेखनीय रहा।पंजाब के मोगा में सरकारी सीनियर सेंकेडरी स्कूल में छात्रएं।
NEWS PHOTO
22289761
GOOGLE SEARCH
uptet | up tet | uptet latest news | uptet news | only4uptet | primary ka master | basic shiksha parishad | basic siksha parishad | basic shiksha | shiksha mitra | shikshamitra latest news | shikshamitra news | uptet 2011 | uptet syllabus | uptet syllabus 2016 | uptetnews | uptet 2016 | uptet 2016 result | uptet result | uptet 2016 admit card | up basic shiksha parishad | shikshamitra
GOOGLE SEARCH से वेबसाइट पर आने के लिए Uptet.Help सेर्च करें.
GO TO UPTET.NEWS

:=:



VidMate
WhatsApp status saver for photo or videos
Download the best Android apps on Uptodown
Download Android Game for Free
New Apps  UC Browser  9Apps  more